RAM क्या है? RAM के बारे में जानकारी

What is RAM

Computer RAM का फुल फॉर्म है- रैंडम एक्सेस मेमोरी (Random Access Memory) RAM एक फिजिकल हार्डवेयर युक्ति(डिवाइस) है जिसका उपयोग कंप्यूटर में अस्थायी समय (temporary) के लिए डेटा को स्टोर किया जाता है। इसे मुख्य (main) मेमोरी, प्राथमिक (primary) मेमोरी,आंतरिक (internal) मेमोरी भी कहते है। यह मेमोरी में Data को बिना किसी निश्चित क्रम के एक्सेस कर सकता है। अगर आपने अनुभव किया हो कि आपके फ़ोन में बने फोल्डर में जाने के लिए आप सीधे ही उस फोल्डर में जा सकते है और अगर दूसरे फोल्डर में जाना हो तो जरूरी नही पिछले वाले फोल्डर को एक्सेस करके जाए पर यदि आपने म्यूजिक कैसेट(मैग्नेटिक टेप) का उपयोग किया हो । RAM क्या है? के बारे में और अच्छे से जानने के लिए आप निचे दिगई कोई भी लिंक्स से ले सकते हैं, हमने सबसे अच्छे आर्टिकल की लिंक यहाँ पर आपको दिखाई है. निचे दिगई किसी भी लिंक में क्लिक करें और फुल डिटेल में आर्टिकल पढ़ें

Difference between RAM and ROM

DifferenceRAMROM
Data retentionRAM is a volatile memory which could store the data as long as the power is supplied.ROM is a non-volatile memory which could retain the data even when power is turned off.
Working typeData stored in RAM can be retrieved and altered.Data stored in ROM can only be read.
UseUsed to store the data that has to be currently processed by CPU temporarily.It stores the instructions required during bootstrap of the computer.
SpeedIt is a high-speed memory.It is much slower than the RAM.
CPU InteractionThe CPU can access the data stored on it.The CPU can not access the data stored on it unless the data is stored in RAM.
Size and CapacityLarge size with higher capacity.Small size with less capacity.
Used as/inCPU Cache, Primary memory.Firmware, Micro-controllers
AccessibilityThe data stored is easily accessibleThe data stored is not as easily accessible as in RAM
CostCostliercheaper than RAM.

इसे Random Access Memory क्यूँ कहा जाता है ?

RAM में डाटा और निर्देश Cells में Store रहता हैं. प्रत्येक Cell कुछ Rows एवं Columns से मिलकर बना होता हैं, जिसका अपना Unique Address होता हैं. इसे Cell Path भी कहते है. CPU इन Cells से अलग-अलग डाटा प्राप्त कर सकता हैं. और वो भी बिना कोई Sequence के ही मतलब की RAM में उपलब्ध डाटा को Randomly Access किया जा सकता हैं. इसकी इसी विशेषता के कारण इस मेमोरी का नाम Random Access Memory रखा गया हैं.

रैम के क्या-क्या विसेश्ताएं होते हैं (Characteristics of RAM in Hindi)

RAM के बारे में तो जान ही गए लेकिन आप इसके Properties क्या क्या है आपको ये भी जानना चाहिए चलिए जानते हैं.

1. RAM Volatile Memory है.

2. यह ज्यादा महंगी होती है दूसरे Memory की तुलना में.

3. इसकी Capacity कम होती है Secondary Memory की तुलना में इसके.

4. स्पीड की बात की जाए तो यह Secondary Memory से काफी हद तक स्पीड होती है .

5. जब बिजली बंद हो जाता है यह Memory खाली हो जाती है.

6. सारे Program, Application, Instruction इस Memory में ही चलते हैं.

7. इस Memory को CPU इस्तेमाल करता है.

8. इसको Computer की Working Memory भी बोला ज्याता है.

RAM के प्रकार

RAM कितने प्रकार के होते हैं और क्या क्या होते हैं वैसे तो दो प्रकार के होते हैं

1. Static RAM
2. Dynamic RAM

1. Static RAM क्या है

ये Static सब्द से ही पता चल रहा है, ये स्थिर है मतलब इसमें Data तब तक रहेगा जब तक इस में बिजली आती रहेगी. इसको SRAM भी बोला जाता है. ये Chip 6 Transistor इस्तेमाल करता है और कोई भी capacitor नहीं, transistors को Leakage को रोकने के लिए power नहीं चाहिए ये power मतलब Electricity.

इसको बार बार Refersh करने की कोई जरुरत नहीं Data स्थिर रहता है. SRAM को DRAM से भी ज्यादा Chips चाहिए. समान size का Data को Store करने के लिए.इसलिए SRAM को बनाने में पैसे अधिक लगते है DRAM की तुलना में, इसलिए SRAM कों Cache Memory के हिसाब से इस्तेमाल होता है, Cache Memory सबसे तेज है बाकि सब से.

Characteristic of SRAM in Hindi

  • ये बोहत दिनों तक चलती है.
  • इसको बार बार refresh करने की जरुरत नहीं.
  • काफी तेज है.
  • इसको cache Memory के लिए इस्तेमाल किया ज्याता है.
  • इसकी size ज्यादा है.
  • महगी है दुसरो से.
  • ज्यादा power चाहिए ये.

2. Dynamic RAM क्या है

इसको DRAM भी बोला जाता है, ये SRAM का पूरा विपरीत है. इसको बार बार refresh करने की जरुरत है, अगर Data को बरक़रार रखना है तो. ये केवल तभी संभव हो सकता है जब इस Memory को एक refresh CIRCUIT के साथ जोड़ा जाये.

अधिकांस समय इस DRAM को System Memory बनाने में इस्तेमाल होता है. ये DRAM एक Capacitor और एक Transistor से बना है.

Characteristics Of  DRAM in Hindi

  • ये बोहत कम दिनों तक चलती है.
  • इसको बार बार Refresh करने की जरुरत है .
  • काफी धीमी है.
  • इसको cache Memory के लिए इस्तेमाल किया ज्याता है.
  • इसकी Size कम है .
  • सस्ती है दुसरो से.
  • कम Power चाहिए ये

ये भी पढ़े:

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: