LTE और VOLTE क्या है? दोनों में क्या अंतर है और ये कैसे काम करता है?

आज से कुछ सालों पहले तक ज्यादातर लोगो के पास सिर्फ 3जी फ़ोन हुआ करते थे. लेकिन समय के साथ स्मार्टफोन की तकनीक में बदलाव आता गया और अब लोगो के पास 5जी फ़ोन है. आज हम मोबाइल इंटरनेट के एक नए युग में प्रवेश कर रहे है. स्मार्टफोन्स के आने के बाद कीपैड वाले मोबाइल गुम होते जा रहे है.

आज हम स्मार्टफोन की सहायता से न सिर्फ वॉइस कॉल कर सकते है बल्कि वीडियो कॉल की सुविधा का आनंद ले सकते है. इस तरह की कनेक्टिविटी के लिए दो तरह के नेटवर्क होते है जिन्हे LTE और VOLTE के नाम से जाना जाता है.

तो आइये जानते है LTE और VOLTE में क्या अंतर है. हम ये भी जानेंगे की कैसे ये दोनो प्रौद्योगिकियां एक दूसरे से अलग है और कौन सी बेहतर है.

LTE क्या है?

LTE का फूल फॉर्म लॉन्ग टर्म इवोल्यूशन होता है. LTE मोबाइल टेक्नोलॉजी स्टैण्डर्ड है. भारत में 2012 में एयरटेल कंपनी ने पहली बार LTE नेटवर्क सेवा की शुरुआत की थी. LTE ने CDMA और GSM स्टैण्डर्ड में टेक्नोलॉजिकल क्रांति लायी है.

आज LTE नेटवर्क हर जगह यूज़ किया जा रहा है. सामान्य बोलचाल की भाषा में LTE को 4G कहा जाता है. यदि आप इस सेवा का इस्तेमाल करते है तो आपके स्मार्टफोन में 4G स्पीड में इंटरनेट चलता है.

LTE में अधिकतम 100-50 Mbps की इंटरनेट स्पीड आ सकती है. LTE की डाउनलोड क्षमता 100 Mbps और अपलोड क्षमता 50 Mbps होती है.आज के समय में अधिकतर लोग LTE का उपयोग कर रहे है.

ये भी पढ़े:- Data क्या है? डाटा के बारे में जानकारी

VoLTE क्या है?

VoLTE का फुल फॉर्म ‘वॉइस ओवर लॉन्ग टर्म इवोल्यूशन’ है. यह 4G नेटवर्क को सपोर्ट करता है तथा इसमें आप हाई स्पीड इंटरनेट का उपयोग करने के साथ ही HD वॉइस कालिंग का भी उपयोग कर सकते है.

इस नेटवर्क की मुख्य विशेषता यह है की कॉल आने की स्थिति में आपके फ़ोन में इंटरनेट स्पीड काम नहीं होती है.

VoLTE का सबसे महत्वपूर्ण कार्य यह होता है की कॉल कनेक्टिविटी को सुधारना VoLTE में उपयोगकर्ता को कालिंग करने पर 3G और 2G से कई गुना बेहतर कनेक्टिविटी मिलती है. VoLTE enabled मोबाइल सेट में बिना इंटरनेट के भी कॉल किया जा सकता है.

रिलायंस जियो के बाद से अब भारती एयरटेल और वोडाफ़ोन इंडिया भी देश के ज्यादातर टेलीकॉम  सर्किल में VoLTE सेवा शुरू करने के लिए टेस्टिंग कर रहे है.

LTE और VoLTE में क्या अंतर है

LTEVoLTE
FULL form है Long Term Evolution होता है.FULL form है Voice Over Long Term Evolution होता है.
इन्हें मुख्य्तः इंटरनेट के लिए ही डिज़ाइन किया गया है.इन्हें मुख्यतः वॉइस और इंटरनेट के लिए ही डिज़ाइन किया गया
है.
ये वॉइस ट्रांसमिशन को सपोर्ट नहीं करता है.ये वॉइस ट्रांसमिशन और डाटा ट्रांसमिशन दोनों को सपोर्ट करता है.
वॉइस कॉल तभी हो सकती है जब इंटरनेट कनेक्शन चालू रहे नहीं तो कॉल ड्रॉप हो सकती है.इंटरनेट कनेक्शन के न होने पर भी वॉइस कॉल किया जा सकता है.
LTE आजकल उपयोगकर्ताओं द्वारा व्यापक रूप से उपयोग नहीं किया जा रहा है.VoLTE आजकल उपयोगकर्ताओं द्वारा व्यापक रूप से उपयोग किया जा रहा है.

ये भी पढ़े:-

भारत के टॉप 10 हिंदी ब्लॉग कौन से हैं ? Best Hindi Blog 2021

दुनिया में सबसे ज्यादा डिजिटल ऑनलाइन पेमेंट किस देश में है ? Top 10 Digital Payment List

Debit Card और Credit Card में क्या अंतर है?

Debit Card और Credit Card में क्या अंतर है?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: