Digital Marketing Kya Hai ? डिजिटल मार्केटिंग की जानकारी हिंदी में

डिजिटल मार्केटिंग क्या है? Digital Marketing in Hindi

डिजिटल मार्केटिंग इंटरनेट पर डिजिटल तकनीकों का उपयोग कर के लोगो तक पहुंचना है, जिसमें मोबाइल फोन, कंप्यूटर, लैपटॉप, सोशल मीडिया और टीवी के माध्यम से विज्ञापन के द्वारा लोगो तक अपने सामान को बेचना ही डिजिटल मार्केटिंग कहलाता है

Digital marketing in hindi – Digital marketing एक तरह मार्केटिंग है, जोकि किसी भी प्रोडक्ट्स या सर्विसेज की इंटरनेट की मदद से ऑनलाइन की जाती है. डिजिटल मार्केटिंग को मोबाइल फ़ोन एप्प्स, एडवरटाइजिंग या फिर किसी भी डिजिटल माध्यम से चीज़ो की मार्केटिंग को Digital marketing कहते हैं. डिजिटल मार्केटिंग डिजिटल माध्यमों जैसे सर्च इंजन, वेबसाइट, सोशल मीडिया, ईमेल और मोबाइल ऐप के माध्यम से वितरित विज्ञापन से किआ जाता है। डिजिटल मार्केटिंग की मदद से हे ऑनलाइन किसी भी प्रोडक्ट या सर्विसेज की मार्केटिंग की जाती है. सायद आपको Digital marketing क्या है, समझ में आया होगा इसके बारे में विस्तार से जानने के लिए, आप निचे दिगई कोई भी लिंक्स से ले सकते हैं, हमने सबसे अच्छे आर्टिकल की लिंक यहाँ पर आपको दिखाई है. निचे दिगई किसी भी लिंक में क्लिक करें और फुल डिटेल में आर्टिकल पढ़ें

डिजिटल मार्केटिंग के 6 प्रकार (6 Types of Digital Marketing)

1. सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन या SEO

यह ऐसा तकनीकी माध्यम है जो आपकी वेबसाइट को सर्च इंजन के परिणाम पर सबसे महत्वपूर्ण है जिससे दर्शकों की संख्या में बड़ोतरी होती है। इसके लिए हमें अपनी वेबसाइट को कीवर्ड और SEO guidelines के अनुसार बनाना होता है। SEO आप के वेबसाइट के लिए सबसे महत्वपूर्ण है

2. सोशल मीडिया (Social Media)


सोशल मीडिया Facebook, Twitter, Instagram, LinkedIn, आदि है । सोशल मीडिया के माध्यम से व्यक्ति अपने विचार को सभी लोगों के सामने रख सकता है । आप सभी प्रकार के सोशल मीडिया के बारे में जानते है । जब हम वेबसाइट देखते हैं तो इस पर कुछ-कुछ अन्तराल पर हमे विज्ञापन दिखते हैं यह विज्ञापन के लिये कारगार व असरदार जरिया है।

3. ईमेल मार्केटिंग (Email Marketing)


किसी भी कंपनी द्वारा अपने उत्पादों को ई-मेल के द्वारा पहुंचाना ई-मेल मार्केटिंग है। ईमेल मार्केटिंग हर प्रकार से हर कंपनी के लिये आवश्यक है क्योकी कोई भी कंपनी नये प्रस्ताव और छूट ग्राहको के लिये समयानुसार देती हैं जिसके लिए ईमेल मार्केटिंग एक सुगम रास्ता है।

4. यूट्यूब चेनल (YouTube Channel)


सोशल मीडिया का ऐसा माध्यम है जिसमे उत्पादक अपने उत्पादों को लोगों के समक्ष प्रत्यक्ष रुप से पहुंचाना है। लोग इस पर अपनी प्रतिक्रया भी व्यक्त कर सकते हैं। ये वो माध्यम है जहां बहुत से लोगो की भीड़ रह्ती है या यूं कह लिजिये की बड़ी सन्ख्या में users/viewers यूट्यूब पर रह्ते हैं। ये अपने उत्पाद को लोगों के समक्ष वीडियो बना कर दिखाने का सुलभ व लोकप्रिय माध्यम है।

5. अफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing)


वेबसाइट, ब्लोग या लिंक के माध्यम से उत्पादनों के विज्ञापन करने से जो मेहनताना मिलता है, इसे ही अफिलिएट मार्केटिंग कहा जाता है। इसके अन्तर्गत आप अपना लिंक बनाते हैं और अपना उत्पाद उस लिंक पर डालते है । जब ग्राहक उस लिंक को दबाकर आपका उत्पाद खरीदता है तो आपको उस पर मेहन्ताना मिलता है।

6. पे पर क्लिक ऐडवर्टाइज़िंग या PPC marketing


जिस विज्ञापन को देखने के लिए आपको भुगतान करना पड़ता है उसे ही पे पर क्लिक ऐडवर्टीजमेंट कहा जाता है। जैसा की इसके नाम से विदित हो रहा है की इस पर क्लिक करते ही पैसे कटते हैं । यह हर प्रकार के विज्ञापन के लिये है ।यह विज्ञापन बीच में आते रह्ते हैं। अगर इन विज्ञापनो को कोई देखता है तो पैसे कटते हैं । यह भी डिजिटल मार्केटिंग का एक प्रकार है।

(vii) एप्स मार्केटिंग (Apps Marketing)
इंटरनेट पर अलग-अलग ऐप्स बनाकर लोगों तक पहुंचाने और उस पर अपने उत्पाद का प्रचार करने को ऐप्स मार्केटिंग कहते हैं । यह डिजिटल मार्केटिंग का बहुत ही उत्तम रस्ता है। आजकल बड़ी संख्या में लोग स्मार्ट फ़ोन का उपयोग कर रहे हैं । बड़ी-बड़ी कंपनी अपने एप्स बनाती हैं और एप्स को लोगों तक पहुंचाती है डोमेन खरीदना चाहते हैं यदि आप कंपनी डोमेन खरीद रहे हैं, तो आप उस कंपनी के नाम पर एक डोमेन ले सकते हैं।लेकिन ध्यान रखें कि एक बार जब आपने डोमेन खरीदा है, तो यह बदल नहीं सकते है। साथ ही, और आपको यह तय करना होगा कि आप इसे एक साल के लिए कैसे कर सकते हैं।फिर एक साल बाद आपको डोमेन रिन्यू करना होता है ।

डिजिटल मार्केटिंग की उपयोगिता :

(i) आप अपनी वेबसाइट पर ब्रोशर बनाकर उस पर अपने उत्पाद का विज्ञापन लोगों के लेटेर-बॉक्स पर भेज सकते हैं। कितने लोग आपको देख रहे हैं यह भी पता लगाया जा सकता है।

(ii) वेबसाइट ट्रेफ़िक- सबसे ज्यादा दर्शकों की भीड़ किस वेबसाइट पर है – पहले ये आप जान ले , फिर उस वेबसाइट पर अपना विज्ञापन डाल दें ताकी आपको अधिक लोग देख सकें ।

(iii) एटृब्युषन मॉडलिंग – इसके द्वारा ह्म यह पता कर सकते है की आजकल लोग किस उत्पाद में रुचि ले रहे हैं या किन-किन विज्ञापनों को देख रहे हैं । इसके लिये विशेश टूल का प्रयोग करना होता है जो की एक विशेश तकनीक के द्वारा किया जा सकता है और ह्म अपने उपभोक्ताओं की हरकतें यानी उनकी रुचि पर नज़र रख सकते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग का लाभ

Digital Marketing kya hai जानने के साथ-साथ इसके लाभ जानने भी आवश्यक हैं, जो इस प्रकार हैं:

  1. यह बहुत कम पैसों में की जा सकती है। इसे आप INR 100 या 1,000 से भी शुरू कर सकते हैं।
  2. यह हम सिर्फ और सिर्फ उन्हीं लोगों तक अपने विज्ञापनों को पहुंचा सकते हैं जिन्हें हमारे प्रोडक्ट्स या फिर सर्विसेज की जरूरत है। जबकि ट्रेडिशनल मार्केटिंग में ऐसा संभव नहीं है।
  3. डिजिटल मार्केटिंग करने में आसान है।
  4. साथ ही साथ हम आसानी से अपने कैंपेन में जरूरी बदलाव कर सकते हैं।
  5.  इसमें प्राय: कन्वर्शन रेट अच्छा होता है। यानी लोग जल्दी से ग्राहक बन जाते हैं।
  6. इंटरनेट मार्केटिंग में जॉब के कई विकल्प हैं।
  7. इंटरनेट मार्केटिंग की मुख्य अवधारणाओं को मजबूत करना। 
  8. अपनी मौजूदा व्यावसायिक वेबसाइट या ब्लॉग का प्रचार करना। 
  9. आपकी SEO टीम कैसे काम कर रही है, इसकी बेहतर निगरानी कर सकते हैं। 
  10. इंटरनेट मार्केटर्स के रूप में घर से काम (वर्क फ्रॉम होम) से एक फ्रीलान्स के रूप में काम कर सकते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग की मांग वर्तमान समय में बहुत प्रबल रुप में देखने को मिल रही है। व्यापारी जो अपना सामान बना रहा है , वो आसानी से ग्राहक तक पहुंचा रहा है।  इससे डिजिटल व्यापार को बढ़ावा मिल रहा है ।

पहले विज्ञापनो का सहारा लेना पड़ रहा था। ग्राहक उसे देखता था, फिर पसंद करता था , फिर वह उसे खरीदता था। परंतु अब सीधा उपभोक्ता तक सामान भेजा जा सकता है । हर व्यक्ति गूगल, फेसबुक , यूट्यूब आदि उपयोग कर रहा है, जिसके द्वारा व्यापारी अपना उत्पाद-ग्राहक को दिखाता है । यह व्यापार सबकी पहुंच में है- व्यापारी व उपभोक्ता की भी।

हर व्यक्ति को आराम से बिना किसी परिश्रम के प्रतयेक  उपयोग की चीज़ मिल जाती है। व्यापारी को भी यह सोचना नही पड़ता कि वह अखबार, पोस्टर, या विज्ञापन का सहारा ले। सबकी सुविधा के मद्देनजर इसकी मांग है। लोगों का विश्वास भी डिजिटल मार्किट की ओर बड़   रहा है। यह एक व्यापारी के लिये हर्ष का विषय है। कहावत है “ जो दिखता है वही बिकता है” – डिजिटल मार्किट इसका अच्छा उदाहरण है ।

ये भी पढ़े:-


in

by