NFT क्या है? ये कैसे काम करता है? What is NFT in Hindi

NFT क्या है?

NFT यानि Non Fungible Token (नॉन फंजिबल टोकन) ये एक प्रकार का टोकन होता है. जिसे आप क्रिप्टोग्राफिक टोकन भी कह सकते है. NFT एक प्रकार की डिजिटल संपत्ति है. नॉन फंजिबल टोकन कोई भी व्यक्ति किसी दूसरी वस्तु के बदले ले या दे नहीं सकता है.

नॉन फंजिबल टोकन एक तरह के डिजिटल आइटम्स है. जिसके अंदर म्यूजिक, संगीत, वीडियो, गेम्स और आर्ट्स आदि स्टोर की जाती है. हर NFT एक दूसरे NFT से अलग होती है. एक NFT को दूसरे NFT के बदले खरीद या बेच नहीं सकते है. हर नॉन फंजिबल टोकन की अपनी अलग पहचान होती है. आइये एक उदहारण से इसे अच्छे से समझते है-

मान लीजिए एक पेंटिंग है जिसे किसी कलाकार के द्वारा बनाया गया है जब उस पेंटिंग को इंटरनेट पर अपलोड किया जाता है वह पब्लिक प्रॉपर्टी बन जाती है जिसे कोई भी डाउनलोड कर अपना अधिकार बता सकता है.

यदि कोई व्यक्ति अपनी कलाकारी पर NFT ले ले यानि नॉन फंजिबल टोकन बना ले तो उसे डिजिटली एक टोकन मिलेगा जो उसे एक प्रकार का कानूनी अधिकार देगा कि उस इमेज पर सिर्फ उसका अधिकार है.

जब उस इमेज को यानि उसके डिजिटल टोकन को आगे बेचा जायेगा तब बेचीं गई कीमत का 10 प्रतिशत हिस्सा बतौर रॉयल्टी उसके मालिक यानि जिसने उसे बनाया था उसे जायेगा. आपकी सम्पति जितनी बार बेची जाएगी उतनी बार प्रॉफिट होगा और उसकी प्राइस बढ़ती जाएगी.

NFT कैसे काम करता है?

कोई भी NFT एक डिजिटल आइटम होती है, जो किसी न किसी ब्लॉक चैन पर आधारित होती है. एक समय पर किसी NFT का एक ही मालिक होता है. वो व्यक्ति जिसके पास NFT का उस समय मालिकाना हक़ है. वो उसे आगे बेच सकता है.

ये भी पढ़े:- NEFT क्या है? NEFT कैसे काम करता है?

जैसे हमने बताया NFT का एक समय पर एक ही मालिक होता है. उसके इस अधिकार को सुरक्षित करने के लिए एक डिजिटल सर्टिफिकेट बना दिया जाता है. जो की Tokenised पर बेस होती है.

इसी सर्टिफिकेट को ट्रांसफर कर के व्यक्ति वो व्यक्ति NFT के बेच सकता है. NFT की एक सबसे अच्छी खूबी यह है कि जिस व्यक्ति ने उस NFT को बनाया है. जब भी उस NFT को बेचा जायेगा. उस कीमत का एक हिस्सा उस NFT बनाने वाले को भी ट्रांसफर किया जायेगा.

NFT के फायदे

  • NFT को खरीदना और बेचना बहुत ही easy है.
  • NFT में वैलिड certificate के वजह से इसको कॉपी करना मुश्किल होता है.
  • NFT के द्वारा कलाकारों को काम खर्च में अधिक फायदा होता है.
  • NFT टोकन को बड़ी ही आसानी के साथ ट्रांसफर किया जा सकता है यानी ये transferable है.

NFT टोकन को कैसे खरीद सकते है?

यदि आप भी NFT को खरीदना चाहते है तो उसके लिए काफी सारे अलग अलग ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है जहा से आप NFT टोकन खरीद सकते है जैसे की Super Rare, Open Sea, Rarible और Nifty Gateway जैसे प्लेटफॉर्म से आप NFT टोकन खरीद सकते है. आपको दिए गए किसी भी प्लेटफार्म पर SignUp करके अकाउंट बनाना होगा उसके बाद आप चाहे तो क्रिप्टोकोर्रेंसी का उपयोग करके भी NFT टोकन को खरीद सकते है.

ये भी पढ़े:- ब्लॉकचेन (Blockchain) क्या है? ब्लॉकचेन कैसे काम करता है?

अपना NFT कैसे बनाएं?

अपना खुद का NFT तैयार करने के लिए सबसे पहले आपको एक ऑनलाइन वॉलेट क्रिएट करना होगा जिसमें NFTs होल्ड की जा सकें. क्रिप्टो-असेट्स को जिस वॉलेट में स्टोर किया जाता है, उसे ‘प्राइवेट की’की मदद से ऐक्सेस किया जा सकता है.

यह प्राइवेट की किसी सुपर-सिक्योर पासवर्ड की तरह काम करती है, जिसके बिना NFT ओनर टोकन्स ऐक्सेस नहीं कर सकते. इस वॉलेट को आपको मेटामास्क जैसी किसी सर्विस से लिंक करना होगा.

NFT क्रिप्टो टोकन क्या होता है?

आम आदमी की भाषा में कहें तो एनएफटी बिटकॉइन की तरह क्रिप्टो टोकन है जो डिजिटल संपत्ति जैसे डिजिटल आर्ट, म्यूजिक, फिल्म, गेम्स या आपको किसी कलेक्शन को मिल सकता है. एनएफटी कलाकारों के लिए एक नए युग की शुरुआत बताई जा रही है क्योंकि गैलरी में अपना आर्ट बेचना सबके वश की बात नहीं.

गैलरी चलाने वालों की धाक और उनकी मोनोपॉली ऐसी होती है कि वहां तक साधारण कलाकार नहीं पहुंच सकते. लेकिन अगर आपमें हुनर है तो डिजिटल दुनिया में आपके आर्ट की कद्र होगी और उसमें दम रहा तो लाखों-करोड़ों रुपये मिल भी सकते हैं.

FAQ

Q : NFT कैसे काम करता है?

NFT डिजिटल वर्ल्ड में मूर्त और अमूर्त, दोनों वस्तुओं का रिप्रजेंट करती है. इनमें आर्ट, GIF, वीडियो, म्यूजिक, मैसेज और ट्वीट जैसी चीजें शामिल होती हैं.

Q : NFT को कैसे खरीदा जा सकता है?

यदि आपको खुद का NFT कलेक्शन बनाना है तो आपके पास सबसे पहले एक डिजिटल वॉलेट होना चाहिए. इसी वॉलेट के जरिए आपको NFT और क्रिप्टोकरेंसी को स्टोर करने की अनुमति मिलेगी.

ये भी पढ़े:-


in

by