MP e Uparjan 2024: मध्यप्रदेश गेहू पंजीयन ऑनलाइन कैसे करें? गेहू बेचने हेतु स्लॉट बुकिंग कैसे करें जानें पूरी जानकारी

सरकार द्वारा प्रत्येक वर्ष किसानो के लिए नई-नई योजना को आरंभ किया जाता है 2022 में किसानों की अच्छी उपज और उनकी आय को दोगुना बढ़ाने के लिए मध्यप्रदेश ई उपार्जन योजना की शुरुवात की गई थी. जिसमे किसानों के लिए आर्थिक आय का साधन सुनिश्चित रूप से होता रहे और कोई भी किसान परेशान न हो.

मध्यप्रदेश गेहू पंजीयन प्रक्रिया जो रवि की फसल के उचित दाम प्रदान करने हेतु गेहू पंजीयन योजना चलाई गई है और 2024 में गेहू के दाम में भी परिवर्तन हुआ है. मध्यप्रदेश की सरकार ने रबी की 80 लाख गेंहू खरीदने का ऐलान किया है.

इस योजना के तहत सरकार ने फसलों के दाम फिक्स कर रखे है जिससे किसानो को अपनी मेहनत का पूरा हिंसा मिलेगा किसानो को काफी लाभ मिलेगा. इसके लिए सभी किसानों को अपनी फसल का दाम प्राप्त करने हेतु ऑनलाइन पंजीयन कराना होगा.

एमपी ई उपार्जन पोर्टल पर किसान नि:शुल्क अपना रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं. अपनी खरीफ और रबी की फसलों को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरकार को बेच सकते हैं.

बीते 5 सालों में MP E Uparjan Portal पर 118.57 लाख किसानों ने अपना रजिस्ट्रेशन किया इन सभी किसानों में करीब 64 लाख किसानों से करीब 2415.62 लाख क्विंटल अनाज खरीदा गया. इस एवज में सरकार द्वारा किसानों को 69111 करोड रुपए का भुगतान किया.

मध्यप्रदेश गेहू पंजीयन 2024

राज्य के किसानों से गेहूं की फसल न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदने हेतु मध्यप्रदेश गेहू पंजीयन की प्रक्रिया को मध्य प्रदेश सरकार द्वारा प्रारंभ किया गया है. इस कार्य के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य पर 80 लाख टन गेहूं खरीदने की घोषणा मध्य प्रदेश सरकार द्वारा की गई है, इसके साथ ही राज्य के 3480 केंद्रों पर सरकार द्वारा पंजीयन की प्रक्रिया को चालू किया गया है.

मध्यप्रदेश राज्य के सभी किसान नागरिकों के द्वारा अपनी फसल को समर्थन मूल्य पर अपनी इच्छा के अनुसार बेचा जा सकता है, इसके लिए सभी किसानो को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 28 फरवरी 2024 तक कराना होगा.

एमपी गेहूं पंजीयन के बाद 25 मार्च के बाद से रबी फसल की खरीद को आरंभ कर दिया जाएगा, तथा रबी फसल की खरीद 25 मई 2024 तक की जाएगी. वह सभी किसान जिनके द्वारा फसल बेची जाएगी, उनके बैंक खाते में राशि को डीबीटी के माध्यम से भेजा जाएगा.

मध्यप्रदेश गेहू पंजीयन 2024 का उद्देश्य

मध्यप्रदेश गेहूं पंजीयन का मुख्य उद्देश्य राज्य के सभी किसानो को समर्थन मूल्य पर फसल को बेचने की सुविधा प्रदान करना है. मध्य प्रदेश सरकार द्वारा गेहूं की फसल न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदने हेतु राज्य के किसानों के लिए इस सुविधा को आरंभ कर दिया गया है. इस कार्य के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य पर 80 लाख टन गेहूं खरीदने की घोषणा मध्य प्रदेश सरकार द्वारा की गई है.

किसानो से गेहूं खरीदने के बाद उनके रसीद भी उपलब्ध कराइ जाएगी और साथ ही ख़रीदे हुए फसल की धनराशि को किसानो के बैंक खाते में डीबीटी के माध्यम से 7 दिनों के भीतर ट्रांसफर कर दी जाएगी। इसके अतिरिक्त एमपी गेहू पंजीयन 2024 की प्रक्रिया को राज्य के 3480 केंद्रों पर राज्य सरकार द्वारा आरंभ कर दिया गया है.

मध्यप्रदेश गेहू पंजीयन 2024 के बारे में जानकारी

योजना का नाममध्यप्रदेश गेहू पंजीयन
आरम्भ की गईमध्यप्रदेश सरकार के द्वारा
योजना का लाभमध्यप्रदेश के किसानों को
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन
उद्देश्यसमर्थन मूल्य पर किसानों की फसल को बेचने की सुविधा प्रदान करना
लाभसमर्थन मूल्य पर किसानों की फसल को बेचने की सुविधा प्रदान की जाएगी
साल2023-24
आधिकारिक वेबसाइटmpeuparjan.nic.in

मध्यप्रदेश गेहूं पंजीयन के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • ईमेल आईडी
  • पहचान पत्र
  • बैंक खाता विवरण
  • मोबाइल नंबर
  • पंजीयन करने के लिए बोय गए खेत के खसरा नंबर की ऋण पुस्तिका.
  • मध्यप्रदेश गेहूं पंजीयन का लाभ केवल मध्यप्रदेश के किसानों को ही मिलेगा.
  • मध्यप्रदेश के किसानों को उचित मूल्य पर फसल बेचने के लिए ऑनलाइन पंजीयन करना होगा.

मध्यप्रदेश ई उपार्जन योजना के लाभ

  • मध्यप्रदेश के सभी किसान इस योजना का लाभ ले सकते है.
  • इसके लिए उसको कही भी जाने की जरूरत नहीं है आपक MP E Uparjan एप्प को आपने मोबाइल पर Install करना है आप घर बैठे रजिस्ट्रेशन की सुविधा का उपयोग कर सकते है.
  • मध्यप्रदेश सरकार के द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य 80 लाख टन गेहू खरीदने की शुरुवात हो चुकी है.
  • किसानों को अपनी फसलों की धनराशि 7 दिन के अंदर उनके बैंक अकाउंट में आ जाएगी.
  • MP E Uparjan योजना से किसानों का समय और पैसा दोनों की बचत होगी.
  • किसानों को अपनी फसल बेचने के लिए कही भी जाने की जरूरत नहीं है. किसानों को आपने अनुसार न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहू की फसल को अच्छे मूल्य में बेच सकते है फसल बेचने के लिए दिन और तारीख किसान खुद ही तय कर सकता है.
  • MP E Uparjan योजना के तहत फसलों से जुड़ी जानकारी की सुविधा भी रखी गई है.
  • किसानो की फसलों को नुकसान न पहुंचे और किसानो को परेशानियों को सामना न करना पड़े.

2024 के लिए उपार्जन केंद्रों पर फसल का न्यूनतम मूल्य

फसल का नाममूल्य (2024)
गेहूं2124 रुपए
जौ1735 रुपए
मसूर6000 रुपए
चना5335 रुपए
सरसों5450 रुपए

ये भी पढ़े:- मुख्यमंत्री युवा कौशल कमाई योजना 2024 क्या है? युवाओं को मिलेंगे 8 हजार रुपए जानें पूरी जानकारी

मध्यप्रदेश ई उपार्जन रजिस्ट्रेशन कैसे करें-

इस योजना का लाभ आप ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के द्वारा भी कर सकते है प्रत्येक मध्यप्रदेश का निवासी जो किसान हो इसमें अप्लाई कर सकता है आइये जानते है.

Uparjan 01

  • इसके बाद आपके सामने होम पेज ओपन होगा.

  • होम पेज पर आपके सामने 4 ऑप्शन आएंगे- खरीफ,रबी ,अन्य उपयोगकर्ता,आवश्यक सूचना इसमें आपको अन्य उपयोगकर्ता के ऑप्शन पर जाकर पंजीयन केंद्र कीओस्क के लिए पंजीकरण (रबी 2024) पे क्लिक करना है.
Uparjan 04

  • अब आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा.

Uparjan 02

  • नए पेज पर आवश्यक सूचना को जरुरी पढ़े, उसके बाद आपको कीओस्क पंजीयन निर्धारण पर क्लिक करना है.
Uparjan 05

  • अब आपके सामने रबी 2023-2024 पंजीयन केंद्र बनाये पेज ओपन होगा.
Uparjan 06

  • इस पेज में पूछी गई सारी जानकारी जैसे- जिला, तहसील, गांव, संस्था प्रकार, संस्था कोड, संचालक का नाम, आधार नंबर, मोबाइल नंबर, E-mail, पता आदि सभी जानकारी को आपको सही से भरना है.
  • मोबाइल नंबर डालने के बाद आपके नंबर पर कोड आयेगा। उस कोड को फॉर्म पर लिखना है.
  • उसके बाद आपके सामने एक दूसरा पेज ओपन होगा.
Uparjan 07
  • इसमें पूछी गयी जानकारी को भरना है.
  • अब आपको अपने सारे दस्तावेजो को अपलोड करना है.
  • इन स्टेप्स को follow करके आप अपना रजिस्ट्रेशन कर सकते है.

गेहूं बेचने हेतु स्लॉट बुकिंग पर कैसे करें?

यदि आप भी राज्य के किसान हैं और अपनी गेहूं की बिक्री हेतु स्लॉट बुक करना चाहते हैं तो आप नीचे दी गयी प्रक्रिया को फॉलो करें 

  • सबसे पहले आपको स्लॉट बुक करने के लिए MP E Uparjan Portal की आधिकारिक वेबसाइट mpeuparjan.nic.in पर विजिट करना होगा.
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको मेनूबार में ‘किसान स्लॉट बुकिंग (गेहूं)’ के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा.
E Uparjan 01

  • जैसे ही आप ‘किसान स्लॉट बुकिंग (गेहूं) पर क्लिक कर लेंगे आपकी स्क्रीन पर नया पेज खुलेगा.

E Uparjan 02

  • इस नए पेज पर आपको अपने जिले का चयन करना है इसके बाद किसान कोड ,कैप्चा कोड डालें कैप्चा के के बाद send otp पर क्लिक करें आपके register मोबाइल नंबर पर आपको एक ओटीपी प्राप्त होगा.
  • ओटीपी को otp box में दर्ज करें और verify OTP के बटन पर क्लिक करें.
  • यहाँ से आपको तहसील का चयन करना है और स्लॉट के लिए date को सेलेक्ट कर लें.
  • इसके बाद आपको उपार्जन केंद्र सूची में से उपार्जन केंद को सेलेक्ट कर लेना है.
  • उपार्जन केंद्र को चुन लेने के बाद अब आपकी स्क्रीन पर नया पेज ओपन होगा जहाँ आपको अधिकतम उपज को दर्ज करना है.
  • इसके बाद आपको अपनी सुविधानुसार समय को चुन लेना है और ‘सुरक्षित करें’ के बटन पर क्लिक कर लेना है.
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर एक पॉपअप मेसेज आ जायेगा आपको इसका स्क्रीनशॉट लेना है और ok पर क्लिक करना है.
  • इस प्रकार आप mpeuparjan पर kisan online wheat slot booking कर सकेंगें.

किसान भुगतान समस्या कैसे बताएं

किसान MP E Uparjan Portal की आधिकारिक वेबसाइट mpeuparjan.nic.in पर विजिट करना होगा. यहाँ पर आप अपनी भुगतान समस्या का समाधान देख सकते है. भुगतान समस्या बताने के लिए आप नीचे दिए प्रोसेस को फॉलो करें

  • अब वेबसाइट के मुख्य पृष्ठ पर मेनूबार में ‘किसान भुगतान समस्या बताएं ‘ पर क्लिक करें.
E Uparjan 03

  • अब आपकी स्क्रीन पर नया पेज खुलेगा जहाँ आपको टिकट का प्रकार (ticket type) को सेलेक्ट करना है.
E Uparjan 04
  • सलेक्ट टिकट टाइप में आपको ‘भुगतान सम्बंधित’ (payment related) ऑप्शन को चुन लेना है.
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर एक फॉर्म खुल जायेगा.

E Uparjan 05

  • फॉर्म में आपको वर्ष ,जिला ,फसल प्रकार ,किसान कोड ,असफल भुगतान का कारण आदि को दर्ज करना है.
  • अपनी समस्या लिखें और generate otp पर क्लिक कर रजिस्टर मोबाइल पर प्राप्त otp को दर्ज करें.
  • कैप्चा कोड डालें और अंत में सुरक्षित करें के बटन पर क्लिक करें.
  • इस प्रकार से किसान अपनी भुगतान से जुडी समस्या (payment problem) को ऑनलाइन mpeuparjan पोर्टल पर दर्ज कर सकते हैं.

ये भी पढ़े:-

FAQs

Q: MP Gehu Panjiyan 2024 के तहत गेहू का क्या दाम है?

सरकार द्वारा 2125 रुपये क्विंटल का दाम रखा गया है.

E Uparjan MP योजना का उद्देस्य क्या है?

न्यूनतम समर्थन मूल्य पर फसल बेचने हेतु किसान पंजीकरण। इस योजना से किसानों को प्रोत्साहन मिलेगा.


in

by