विश्व हाइपरटेंशन दिवस (17 मई 2022 ): कब और क्यों मनाया जाता है World Hypertension Day

हाइपरटेंशन के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए प्रतिवर्ष 17 मई को ‘वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे’ मनाया जाता है। इस दिन लोगों को हाइपरटेंशन के प्रति जागरूक किया जाता है। हाइपरटेंशन किसी भी उम्र के लोगों को हो सकता

17 मई को हर साल विश्व हाइपरटेंशन डे (World Hypertension Day 2022) मनाया जाता है। इसे मनाने का उद्देश्य हाइपरटेंशन जैसी घातक बीमारी का पता लगाने, उसे कंट्रोल या खत्म करना है। बता दें कि दुनियाभर में 1.3 बिलियन लोग इससे जूझ रहे हैं। 

हाइपरटेंशन क्या है

 हाई ब्लडप्रेशर या हाईपरटेंशन का खतरा महिलाओं से ज्यादा पुरुषों में होता है। इसके अलग-अलग कारण हो सकते हैं जैसे- फैमिली हिस्ट्री, तनाव, गलत खानपान और लाइफ स्टाइल आदि। लेकिन इससे बचने के लिए न केवल डाइट और लाइफ स्टाइल पर ध्यान देने की जरूरत है बल्कि तनाव को कम करना और शरीर को सक्रिय बनाए रखने के लिए एक्सरसाइज भी बेहद जरूरी है।

हाइपरटेंशन के लक्षण –

हाइपरटेंशन (Hypertension) को साइलेंट किलर भी कहा जाता है। कई बार इस बीमारी से पीड़ित शख्स में किसी भी तरह के लक्षण नजर नहीं आते। लेकिन यह कार्डियोवस्कुलर सिस्टम और किडनी को नुकसान पहुंचा सकता है। हाइपरटेंशन होने पर ज्यादा पसीना आना, घबराहट होना, अच्छे से नींद न आना जैसी दिक्कतें हो सकती हैं। कई बार हाइपरटेंशन के मरीजों में तेज सिरदर्द और नाक से खून भी आता है। 

भारत के टॉप 10 यूट्यूब स्टार्स, जो अपने कॉमिक सेंस और सोशल संदेशों से कर रहे सबके दिलों पर राज
भारत के कैबिनेट मंत्रियों की सूची
भारत के 10 सबसे अमीर राज्य कौन से है 2022
भारत की 10 प्रमुख नदियाँ 
दुनिया की 10 सबसे बड़ी मछलियाँ

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: